अरब सागर से दिल्ली आएगा मानसून

Posted by:
Published: Thursday, July 5, 2012, 14:58 [IST]

Arabian sea monsoon will reach Delhi first,
दिल्ली (ब्यूरो)। लगता है इस बार दिल्ली में पहले अरब सागर का मानसून ( पश्चिमी मानसून) पहुंचेगा। हिंद महासागर का मानसून पीछे छूट गया है। अमूमन दिल्ली में पहले हिंद महासागर का मानसून पहुंचता है।

हिंद महासागर से चला मानसून शुरूआती तेजी के बाद 22 जून से मध्य भारत में ठिठक गया है। 28 से उसे दिल्ली पहुंच जाना चाहिए था। जाहिर है यह काफी लेट हो चुका है।अब मानसून सक्रिय हुआ है तो भी दिल्ली पहुंचने में तीन दिन लग सकते हैं। लेकिन जिस तरह अरब सागर से उठा मानसून सक्रिय हुआ है। उससे लग रहा है कि वह दिल्ली पहले पहुंच जाएगा। यह गुजरात पार कर राजस्थान पहुंच चुका है।

मौसम विभाग के अनुसार गुजरात के पास अरब सागर में बना साईक्लोनिक सर्कुलेशन अब लो प्रेशर एरिया (कम दबाव के क्षेत्र) में तब्दील हो गया है। इसके असर से अरब सागर की तरफ से आ रहे मानसून ने आगे बढ़कर गुजरात और मध्यप्रदेश के अधिकांश भाग में दस्तक दे दी है। अगर इसी रफ्तार से यह आगे चला तो दो दिन में दिल्ली पहुंच जाएगा। उत्तर भारत को राहत मिलेगी। जबकि यहां अक्सर पहले पहुंचने वाले बंगाल की खाड़ी की तरफ से आने वाले मानसून की चाल सुस्त है।

राष्ट्रीय मध्यम अवधि मौसम पूर्वानुमान केंद्र के मौसम विशेषज्ञ डॉ रंजीत सिंह के मुताबिक अरब सागर में लो प्रेशर एरिया के चलते मानसून तेजी से आगे बढ़ रहा है। यह सिस्टम अगले तीन दिनों में गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश के बाद पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी उत्तरप्रदेश के कुछ क्षेत्रों से होता हुआ दिल्ली-एनसीआर पहुंच सकता है। दूसरी तरफ, बंगाल की खाड़ी में भी एक साईक्लोनिक सर्कुलेशन से पश्चिम बंगाल सहित असम, मेघालय जैसे पूर्वी प्रदेशों में अच्छी बारिश हो रही है। हालांकि अनुमान है कि दो दिन में यह भी तेजी पकडे़गा।

अगर अरब सागर का मानसून पहले दिल्ली पहुंचता है तो यह नई बात होगी। यों समझ लीजिए यह मौसम का बदलाव का असर ही है। अगर यही रवैया बरकरार रहा तो अगले साल से अरब सागर के मानसून की बात होगी। यह दिल्ली कब आ रहा है।

Story first published: Thursday, July 05, 2012, 14:58 [IST]
Topics: मानसून, अरब सागर, monsoon, arabian sea