समर्थन वापसी की बात से पलट गये करुणानिधि

Posted by:
Published: Wednesday, May 30, 2012, 15:47 [IST]

DMK president M Karunanidhi
दिल्‍ली। केंद्र में सत्ताधीन यूपीए के प्रमुख घटक दल द्रमुक ने आज अप्रत्यक्ष तरीके से गठबंधन से समर्थन वापसी की धमकी के पर बयान पर डीएमके प्रमुख करुणानिधि ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि उनके बयान को मीडिया ने गलत तरीके से लिया है। उन्होंने ऐसा कहा ही नहीं था। करुणानिधि ने कहा कि उनका बयान पूर्व की एनडीए की सरकार के संबंध में था। करुणानिधि ने साफ किया कि मैंने कभी नहीं कहा कि सरकार पेट्रोल के दाम कम नहीं करेगी तो हम सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे।

उन्होंने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि अगर हम ऐसा करेंगे तो केंद्र सरकार कमजोर हो जाएगी जोकि हम नहीं चाहते। करुणानिधि ने कहा था कि डीएमके केंद्र सरकार की सहयोगी पार्टी है लेकिन बावजूद इसके आम लोगों के खिलाफ सरकार के फैसलों को रोकने में पार्टी को कोई संकोच नहीं होगा। करुणानिधि ने कहा था कि हमने सरकार के साथ सामंजस्य बैठाने की काफी कोशिश की लेकिन डीएमके अपने सिद्धांतों के साथ समझौता नहीं करेगी।

मालूम हो कि डीएमके के 18 सांसद केंद्र में यूपीए सरकार को समझौता दे रहे हैं। उल्‍लेखनीय है कि करुणानिधि ने एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिये कहा था कि जब कभी बुनियादी सिद्धांतों को नुकसान पहुंचा और गठबंधन सहयोगी होने के नाते हम मुद्दों को सुलझा नहीं पाए तो हमने विरोध की आवाज उठाने में हिचकिचाहट नहीं दिखायी। हम गठबंधन से बाहर आने में नहीं हिचके और उन सिद्धांतों को बरकरार रखा।

Story first published: Wednesday, May 30, 2012, 15:47 [IST]
Topics: डीएमके, एम करुणानिधि, धमकी, यूपीए, कांग्रेस, पेट्रोल, mk, m karunanidhi, threat, upa, congress, petrol