ताकतवरों में मनमोहन, सोनिया के साथ दाउद इब्राहिम भी

Posted by:
Published: Thursday, November 3, 2011, 18:00 [IST]

Prime Minister Manmohan Singh, Congress President Sonia Gandhi and Dawood Ibrahim
नई दिल्‍ली। 2011 की दुनिया की 70 सबसे शक्तिशाली में हस्तियों में अमेरिका के राष्ट्रपति सबसे ऊपर है। फोर्ब्स पत्रिका द्वारा जारी सूची में भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी टाप 20 में हैं। हालांकि सोनिया की स्थिति पहले कमजोर हुई है। इस सूची में दाऊद इब्राहिम को भी स्थान मिला है। लेकिन विकीलीक्‍स के संस्‍थापक जूलियन असांजे का नाम गायब है।

पत्रिका की इस वार्षिक सूची में ओबामा ने चीनी राष्ट्रपति हू जिंताओ को पहले स्थान से हटाकर शीर्ष स्थान हासिल किया है। रूसी प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन दूसरे स्थान पर हैं। सोनिया के सम्बंध में पत्रिका में लिखा गया है कि वह भारत की सबसे शक्तिशाली राजनेता हैं, जिन्होंने प्रधानमंत्री पद ठुकराकर मनमोहन सिंह को यह स्थान दिया। वैसे सोनिया इस साल दो पायदान खिसककर 11वें स्थान पर आ गई हैं। पिछले साल वह नौंवें स्थान पर थीं। सूची में वह सातवीं सबसे शक्तिशाली महिला हैं।

वहीं 79 वर्षीय मनमोहन सिंह भी एक पायदान नीचे 19वें स्थान पर आ गए हैं। पत्रिका में उन्हें कैम्ब्रिज व ऑक्सफोर्ड से शिक्षाप्राप्त ईमानदार अर्थशास्त्री बताया है। हालांकि उसमें यह नहीं बताया गया है कि मनमोहन को आरक्षित कोटे से दाखिला मिला था। भारत के आर्थिक सुधारों के पीछे उन्हीं का योगदान होने की बात कही गई है। यह अलग बात है कि महंगाई की मार झेल रही देश की आम जनता इससे कतई सहमत नहीं होगी कि आर्थिक मामलों में कुछ किया है।

सूची में कुछ अन्य भारतीय भी शामिल हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अम्बानी 35वें स्थान पर हैं, आर्सेलरमित्तल के प्रमुख लक्ष्मी मित्तल 47वें स्थान पर हैं और विप्रो के प्रमुख अजीम प्रेमजी 61वें स्थान पर हैं। दुनिया की शक्तिशाली हस्तियों की इस सूची में डी-कम्पनी के सरगना दाऊद इब्राहिम कास्कर भी शामिल हैं। वह 57वें स्थान पर हैं। वर्ष 1993 व 2008 में मुम्बई पर हुए आतंकवादी हमले में दाऊद शामिल था।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस यानी आईएसआई के प्रमुख अहमद शुजा पाशा 56वें स्थान पर हैं तो पाकिस्तानी सेना के प्रमुख अश्फाक परवेज कयानी 34वें स्थान पर हैं। तिब्बती आध्यात्मिक नेता 76 वर्षीय दलाई लामा 51वें स्थान पर हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन 50वें स्थान पर हैं। जर्मन चांसलर एंजेला मार्केल सूची में चौथा स्थान हासिल कर दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिला बन गई हैं।

माइक्रोसॉफ्ट प्रमुख बिल गेट्स पांचवें स्थान पर हैं।फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग 40वें स्थान से उठकर नौवें स्थान पर आ गए हैं। अमेरिकी फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष बेन बर्नेन्के आठवें और ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन 10वें स्थान पर हैं। सऊदी अरब के शाह अब्दुल्लाह बिन अब्दुलअजीज अल सौद छठे स्थान पर हैं और पोप बेनेडिक्ट सोलहवें सातवें स्थान पर हैं। सूची में शामिल नए लोगों में आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड, एप्पल के नए सीएओ टिम कुक (58वें), चीनी प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ (14वें) शामिल हैं। सूची से बाहर हुए 10 लोगों में ओपराह विनफ्रे, डोमिनिक स्ट्रॉस-कान, बिन लादेन, दिवंगत स्टीव जॉब्स व जूलियन असांज शामिल हैं।

Story first published: Thursday, November 03, 2011, 18:00 [IST]
Topics: फोर्ब्‍स, दाऊद इब्राहिम, जूलियन असांजे, मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी, forbes, powerful, celebrities, julian assange, manmohan singh, sonia gandhi